प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना:- कार्यान्वयन उद्देश्य पात्रता लाभ

भारत एक ग्रामीण इलाको का देश है यहां आज भी जनसंख्या का अधिकांश भाग ग्रामीण इलाको में ही निवास करता है। ग्रामीण क्षेत्र भारत के दूर दराज इलाके में स्थित होने की वजह से आज भी आधुनिक सुविधाओं का लाभ ग्रामीण जनता को नहीं मिल पाता। इन्ही सुविधाओं में से एक है एलपीजी गैस कनेक्शन।

योजना का प्रारंभ:-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ग्रामीण महिलाओं के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए 1 मई 2016 उत्तर प्रदेश के बलिया से प्रधानमंत्री उज्ज्वल योजना की शुरुआत की थी। यह योजना पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के अंतर्गत आने वाली योजना है। ऐसे ग्रामीण परिवार जो कि खाना पकाने में पारंपरिक ईंधन का प्रयोग कर रहे थे उन परिवारों की महिलाओं के स्वास्थ्य पर ईंधन से निकलने वाले धुएं का नकारात्मक प्रभाव होता है तथा इससे वायु प्रदूषण को भी बढ़ावा मिलता है। यह योजना इन्हीं समस्याओं के नकारात्मक प्रभाव को ध्यान में रखकर प्रारंभ की गई थी।

नोट :- डब्ल्यूएचओ की एक रिपोर्ट के मुताबिक अस्वच्छ ईंधन से खाना बनाते वक्त कितना धूआ महिला ग्रहण करती है, वह 400 सिगरेट के बराबर होता है।

प्रधानमंत्री उज्जवला योजना का कार्यान्वयन-

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का कार्यान्वयन पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय द्वारा किया जाता है। वित्तीय वर्ष 2016-17 , 2017-18 और 2018-19 अर्थात 3 वर्षों में योजना का कार्यान्वयन किया जाना सुनिश्चित किया गया था, जिसके लिए मंत्रिमंडल द्वारा 8000 करोड ₹ के बजट की मंजूरी दी गई थी ( प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के लिए बजट का निर्धारण आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति सीसीईए ने किया)। 2016-17 में 1.5 करोड़ लोगों को कनेक्शन दिए जाने का लक्ष्य निर्धारण किया गया था तथा 3 वर्षों में 5 करोड़ free connection दिए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया यद्यपि इसके लिए सरकार ने 1600 सो रुपए की सब्सिडी भी प्रदान की है।

उद्देश्य –

  • महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा
  • खाना पकाने के लिए स्वच्छ ईंधन को उपलब्ध कराना जीवाश्म ईंधन से फैलने वाले धुए से ग्रामीण आबादी के लाखों लोगों के स्वास्थ्य को बचाना
  • वायु प्रदूषण रोकना।
  • सिलेंडर गैस स्टोव रेगुलेटर पाइप के भारत में बनने से मेक इन इंडिया को बढ़ावा मिलना।

पात्रता-

  • आवेदक की उम्र 18 वर्ष से ऊपर हो ।
  • आवेदक ग्रामीण महिला होनी चाहिए
  • आवेदक बीपीएल कार्ड धारक होना चाहिए आवेदक महिला का सब्सिडी प्राप्त करने के लिए भारत के किसी राष्ट्रीय कृत बैंक में बचत खाता होना चाहिए
  • आवेदक परिवार में पहले से एलपीजी कनेक्शन नहीं होना चाहिए।

आवश्यक दस्तावेज-

  • बीपीएल राशन कार्ड धारक
  • बीपीएल प्रमाण पत्र (पंचायत का प्रधान/ नगरपालिका अध्यक्ष द्वारा प्रमाणित )
  • पहचान पत्र आधार कार्ड या वोटर आईडी
  • बैंक पासबुक।

अन्य बिंदु –

10 अगस्त 2021 से प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2.0 की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के महोबा जिले से की ।इसके अंतर्गत 10 मिलियन अतिरिक्त मुफ्त एलपीजी सिलेडर बांटने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। सरकार ने 50 जिलों के 21लाख घरों तक गैस पाइपलाइन पहुंचाने का लक्ष्य भी निर्धारित किया है। उजवल्ला योजना 2.0 के तहत मुफ्त कनेक्शन के साथ मुफ्त भरा सिलेंडर भी मिलेगा तथा प्रवासियों को पहचान पत्र दिखाने की आवश्यकता नहीं होगी क्योंकि प्रवासी अब सेल्फ डिक्लेरेशन देखकर योजना का फायदा ले सकेे।

PMUY 2022 में ऑफलाइन आवेदन

इच्छुक महिला को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में आवेदन करने के लिए योजना की आधिकारिक वेबसाइट से फॉर्म डाउनलोड करना होगा।

फॉर्म में पूछी गई जानकारी जैसे मोबाइल नंबर नाम पता आधार कार्ड नंबर आदि सही-सही भरें।

आवश्यक दस्तावेजों को अटैच करने के पश्चात आवेदन फॉर्म अपने निकटतम एजेंसी में जाकर जमा करें।

गैस एजेंसी अधिकारी आपके द्वारा दिए गए आवेदन फॉर्म तथा सभी दस्तावेजों को सत्यापित करेगा तथा 10 से 15 दिन के अंदर आपका एलपीजी कनेक्शन जारी करेगा।

PMUY 2022 में ऑनलाइन आवेदन:-

  • सर्वप्रथम योजना की आधिकारिक वेबसाइट को खोलना होगा।
  • सामने दिए हुए होम पेज पर अप्लाई फॉर फॉर न्यू पीएमयूवाई 2.0 कनेक्शन विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करने के पश्चात उपस्थित हुए डायलॉग बॉक्स में से आपको निम्नलिखित ऑप्शन में से किसी एक का चयन करना होगा क्योंकि यहां विभिन्न कंपनियों में आवेदन करने हेतु लिंक की सुविधा प्रदान की है।
  • डायलॉग बॉक्स में मौजूद क्लिक hear to apply ऑप्शन पर क्लिक करने के पश्चात जो पेज खुल कर आता है उसमे अपनी डिटेल्स fill करनी पड़ेगी।
  • बीच में पूछी गई सभी जानकारी तहसील नाम पता मोबाइल नंबर पिन कोड डिस्ट्रीब्यूटर का नेम इत्यादि दर्ज करना होगा।
  • सभी महत्वपूर्ण जानकारियों को भरने के पश्चात योजना में लगने वाले दस्तावेजों को अपलोड करना होगा
  • तथा आखिर में अप्लाई की विकल्प पर क्लिक करना होगा। अब आपका आवेदन उज्ज्वला योजना के अंतर्गत हो ग्या ह
  • प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर जाकर फॉर्म्स के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने कुछ ऑप्शन खुल कर आएंगे जैसे केवाईसी फॉर्म सप्लीमेंट्री केवाईसी डॉक्युमेंट एंड अंडरटेकिंग सेल्फ डिक्लेरेशन फॉर माइग्रेंट प्रीइंस्टॉलेशन चेक।
  • यह सभी फॉर्म पीडीएफ फॉर्म में साइट पर मौजूद है इसके पश्चात आपको डाउनलोड की विकल्प क्लिक कर सभी महत्वपूर्ण फॉर्म डाउनलोड कर सकते है।

एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर को लोकेट कैसे करें: –

  • प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर दिए हुए फाइंड नियरेस्ट एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर के अंतर्गत आने वाले निम्नलिखित ऑप्शन में से एक पर click करेंगे
  • इंडियन भारत गैस एचपी में से एक कंपनी का चुनाव करेंगे
  • अब आपके अपने राज्य और जिले का चयन करना होगा
  • तो अब लोकेट के विकल्प पर क्लिक करना होगा ऐसा करने से आपको जानकारी मिल सकती है।

रिफिल कराने के लिए संपर्क स्थापित करें:-

 इंडेनकॉन्टेक्ट नंबर
1आईवीआरएस7718955555
2मिस्ड कॉल8454955555
3व्हाट्सएप7588888824
 भारत गैस 
1आईवीआरएस7715012345, 7718012345
2मिस्ड कॉल7710955555
3व्हाट्सएप1800224344
 एचपी गैस 
1आईवीआरएसयहां क्लिक करें
2मिस्ड कॉल9493602222

हेल्पलाइन नंबर;-

प्रधानमंत्री उज्जवला योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियों को प्राप्त करने के लिए आप हेल्पलाइन नंबर 1906 या 18 0023 33555 पर संपर्क कर सकते हैं।

Downloads:-

Leave a Comment